गुरुवार, 25 जून 2009

वो कहाँ खो गए ?

दर्द बयाँ होते रहे ,
वो साथ छोड़ते गए ...
लगा, पास आएँगे ,
वो और दूर जाते रहे ..
हमसाया खुदको कहनेवाले
चुभते उजालों मे खो गए ...
शब गुज़रे या दिन बीते,
हम तनहाही रह गए...

3 टिप्‍पणियां:

  1. जाने क्यों ऐसा होता है?

    उत्तर देंहटाएं
  2. aise dard jaane kyo khuda dete hai..............kya wah khuda in savi ghatanao ko dekhkar khush hota hai...........agar aisa hai to wah khuda kyo kahalata hai?

    उत्तर देंहटाएं
  3. दर्द में दूर जाकर और दर्द दे गए...

    उत्तर देंहटाएं